July 4, 2020
क्राइम नई दिल्ली

दिल्ली हिंसा : मोनिस हत्याकांड में 7 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल

दिल्ली पुलिस ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फरवरी में हुई साम्प्रदायिक हिंसा में एक स्थानीय व्यक्ति की हत्या के सिलसिले में गुरुवार को सात लोगों के खिलाफ एक अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया।

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने 22 वर्षीय मोनिस की कथित हत्या के मामले में मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष आरोपपत्र दाखिल किया। बृजपुरी में साम्प्रदायिक हिंसा के दौरान सिर पर चोट लगने से मोनिस की 25 फरवरी को मौत हो गई थी।

आरोपपत्र के अनुसार, आरोपियों के कब्जे से लाठी, डंडे, तलवार और एक आरोपी के पास से मोनिस का मोबाइल फोन बरामद हुआ था। आरोपपत्र में लगाई गई विभिन्न धाराओं के तहत अधिकतम सजा के रूप में फांसी की सजा सुनाई जा सकती है।

दिल्ली दंगे में 53 लोगों की हुई थी मौत

गौरतलब है कि नागरिकता कानून के समर्थकों और विरोधियों के बीच संघर्ष के बाद 24 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, घोंडा, चांदबाग, शिव विहार, भजनपुरा, यमुना विहार इलाकों में सांप्रदायिक दंगे भड़क गए थे।

इस हिंसा में कम से कम 53 लोगों की मौत हो गई थी और 200 से अधिक लोग घायल हो गए थे। साथ ही सरकारी और निजी संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था। उग्र भीड़ ने मकानों, दुकानों, वाहनों, एक पेट्रोल पम्प को फूंक दिया था और स्थानीय लोगों तथा पुलिस कर्मियों पर पथराव किया।

इस दौरान राजस्थान के सीकर के रहने वाले दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की 24 फरवरी को गोकलपुरी में हुई हिंसा के दौरान गोली लगने से मौत हो गई थी और डीसीपी और एसीपी सहित कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल गए थे। साथ ही आईबी अफसर अंकित शर्मा की हत्या करने के बाद उनकी लाश नाले में फेंक दी गई थी।

Courtesy :https://www.livehindustan.com/

Related Posts