Uncategorized खास खबर पंजाब राष्ट्रीय

अकाली नेता मंजीत सिंह का बड़ा बयान, कभी सोनिया गांधी को … कहा करते थे सिद्धू

नई दिल्ली: नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर अकाली दल के नेता मंजीत सिंह जीके ने बड़ा बयान दिया है. जीके ने कहा, ‘नवजोत सिंह सिद्धू को कभी समझा नहीं जा सकता. कभी वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की तारीफ करते थे, अब विरोध करते हैं. कभी वे सोनिया गांधी को इटैलियन मम्‍मी कहा करते थे. आज उनकी तारीफ में कसीदे गढ़ते हैं. ताजा मामले में उन्‍होंने अपने ही मुख्‍यमंत्री को निशाना बनाया है. ऐसा लगता है कि वह पंजाब के मुख्‍यमंत्री बनना चाहते हैं.’

ये भी पढ़ें: योगी के मंत्री ने दागे सवाल, ‘अगर हनुमान दलित हैं तो राम, शंकर और विष्णु की भी जाति बता दो’
उधर, पंजाब सरकार के एक और मंत्री टीआर बाजवा ने नवजोत सिंह सिद्धू के बयान पर तीखी नाराजगी जताई है. उन्‍होंने कहा, अगर नवजोत सिंह सिद्धू मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को अपना कैप्‍टन नहीं मानते तो उन्‍हें तत्‍काल मंत्री पद छोड़ देना चाहिए. इस बात में कोई संदेह नहीं कि राहुल गांधी हम सभी के कैप्‍टन हैं, लेकिन पंजाब में तो कैप्‍टन साहब ही हमारे कप्‍तान हैं. नवजोत सिंह सिद्धू असाधारण आदमी हैं और उनका लंबा करियर है, लिहाजा उन्‍हें बोलते समय शब्‍दों का ठीक से चयन करना चाहिए.

ये भी पढ़ें: इमरान ने फेंकी गुगली और जो हिंदुस्तान मिलने से मना कर रहा था उसने दो मंत्री भेज दिए

बता दें कि सिद्धू ने शुक्रवार को कहा था कि राहुल गांधी के कहने पर वे पाकिस्तान गए थे और वहीं उनके कैप्टन हैं. जब यह पूछा गया कि उन्होंने पाकिस्तान जाने के लेकर अपने कैप्टन की सलाह अनसुनी क्यों की, तब उन्होंने कहा, ‘आप किस कैप्टन की बात कर रहे हैं. ओह. कैप्टन अमरिंदर सिंह. वे आर्मी कैप्टन हैं. मेरे कैप्टन राहुल गांधी हैं. कैप्टन के कैप्टन भी राहुल गांधी हैं.’

ये भी पढ़ें: जिन्हें कांग्रेस पसंद उन्हें राहुल गांधी जैसा बेटा दे भगवान

बाजवा ने सिद्धू से मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह से माफ़ी मांगने के लिए कहा. उन्होंने कहा, छोटे भाई को मेरी सलाह है कि बात कम करें और काम पर ध्यान दें.

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने करतारपुर साहिब कॉरिडोर खुलने को लेकर आयोजित कार्यक्रम में पाकिस्तान के निमंत्रण को ठुकरा दिया था और कहा था कि पाकिस्‍तान भारत में आतंकवाद का समर्थन कर रहा है, इसलिए वे पाकिस्‍तान नहीं जाएंगे. कहा जाता है कि वे सिद्धू के वहां जाने से भी खुश नहीं थे.

 

हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Posts