September 20, 2020
उत्तर प्रदेश दुनियाँ देश विदेश व्यापार

भारत में बैन 118 चीनी ऐप्स से अलीबाबा, श्याओमी, टेंसेंट और बाइदू पर सबसे ज्यादा असर

भारत ने बुधवार को 118 ऐप पर और प्रतिबंध लगाया, जिनमें ज्यादातर का मालिकाना हक चीन का है या उनकी कंपनियों की 50 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी है। इसे चीन की दिग्गज डिजिटल कंपनियों पर बड़ी चोट माना जा रहा है। प्रतिबंधित ऐप में चीन की दिग्गज डिजिटल कंपनी श्याओमी, टेंसेंट, अलीबाबा और बाइदू पर सबसे ज्यादा असर पड़ेगा। गृह मंत्रालय के अधीन भारतीय साइबर अपराध संयोजन केंद्र भी ऐसे ऐप पर नजर रखे हुए था और उसने भी इन पर रोक की सिफारिश की थी।

टेंसेंट का पबजी में भारी निवेश
चीन की कंपनी टेंसेंट का पबजी गेमिंग ऐप में भारी निवेश है। उसका एप टेंसेंट वॉचलिस्ट, टेंसेंट वेइयुन भी सूची में है। लूडो वर्ल्ड-लूडो सुपरस्टॉर टेंसेंट का ही लोकप्रिय ऐप है। टेंसेंट समर्थित कंपनी क्वाई का ऐप फोटो और वीडियो एडीटर ऐप एमवी मास्टर भी नहीं चलेगा।

चीन के गूगल पर प्रहार
बाइदू चीन का गूगल माना जाता है, जिससे जुड़े ऐप बाइदू, बाइदू एक्सप्रेस हैं। वीचैट के ऐप वीचैट वर्क, वीचैट वीचैट रीडिंग शामिल हैं।

अलीबाबा भी मुश्किल में 
अलीबाबा के फाइनेंस और मैसेजिंग ऐप अलीपे, अलीचैट, मोबाइल ताओबाओ शामिल। टिकटॉक का वीपीएन ऐप भी सूची में है।

श्याओमी भी दायरे में 
श्याओमी के शेयरसेव ः लेटेस्ट गैजेट्स, अमेजिंग डील्स ऐप भी प्रतिबंध लग गया है।

वैश्विक असर पड़ेगा
विशेषज्ञों का कहना है कि जिस तरह टिकटॉक पर भारत के प्रतिबंध का वैश्विक असर दिखाई दिया था, वैसा ही कुछ नई कार्रवाई के बाद देखने को मिल सकता है। अमेरिका ने भारतीय कार्रवाई के आधार पर ही बाइटडांस के स्वामित्व वाले ऐप टिकटॉक पर शिकंजा कसा। माइक्रोसॉफ्ट को 50 अरब डॉलर में बेचने की बाइटडांस की कवायद भी खटाई में पड़ती नजर आ रही है।

पबजी पर आफत—
5 करोड़ से ज्यादा भारत में डाउनलोड पबजी के
3.3 करोड़ से ज्यादा सक्रिय यूजर पबजी ऐप के
01 हजार भारतीय कॉलेज को प्रतियोगिता के जरिये जोड़ा था पबजी ने
8.4 करोड़ डॉलर का राजस्व भारत से

Courtesy :https://www.livehinustan.com/

Related Posts