December 5, 2020
देश राष्ट्रीय

गुर्जर समुदाय ने विरोध के चलते ब्लॉक किए रेलवे ट्रैक, आरक्षण की मांग

रविवार को भरतपुर जिले के पीलूपुरा गांव में बड़ी संख्या में गुर्जर इकट्ठा हुए उन्होंने शिक्षा और नौकरियों में आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन किया। अधिकारियों ने कहा कि कुछ आंदोलनकारियों ने पीलूपुरा से होकर गुजरने वाली मुंबई-दिल्ली रेल पटरियों को क्षतिग्रस्त किया जिसके बाद विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया। अधिकारियों ने कहा कि लगभग 3 बजे कुछ आंदोलनकारियों ने मुंबई-दिल्ली पटरियों की फिश प्लेट को उखाड़ दिया और कुछ ने बयाना-हिंडौन मार्ग को ब्लॉक कर दिया। उन्होंने कहा कि कुछ समय बाद पटरियों को साफ कर दिया गया।

भरतपुर के जिला कलेक्टर नाथमल दीदाल ने कहा, “गुर्जर नेता किरोड़ीलाल बैंसला पीलूपुरा पहुंचे, जहां उन्होंने [खेल और युवा मामलों के मंत्री] अशोक चांदना से बातचीत की। गुर्जर नेता ने मंत्री से समुदाय के लिए उठाए गए कदमों के बारे में पूछा। वार्ता सकारात्मक थी। कल भी हमने गुर्जर समुदाय के एक धड़े के साथ बैठक की थी, जो राज्य सरकार के आश्वासन से संतुष्ट थे।”

कोटा संभाग से गुजरने वाली दिल्ली-मुंबई लाइन पर रेलवे यातायात को भी रोक दिया गया। एके पाल, कोटा मंडल के वरिष्ठ मंडल वाणिज्यिक प्रबंधक ने कहा, “भरतपुर में गुर्जर आंदोलन के कारण दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग पर रेल यातायात रोक दिया गया है।”

“कोटा रेलवे डिवीजन के सभी स्टेशनों पर अलर्ट लग चुका है। इस बीच, आंदोलन के कारण पहले ही रेलवे पुलिस बल (आरपीएफ) और सरकारी रेलवे पुलिस के 450 कर्मी कोटा रेलवे डिवीजन में तैनात हैं।” विशेष रूप से भरतपुर और करौली में पूर्वी राजस्थान के जिलों में गुर्जर बहुल इलाकों में अतिरिक्त पुलिस बल भेजा जाएगा। कानून और व्यवस्था के पुलिस महानिदेशक, सौरभ श्रीवास्तव ने कहा, “हम मुख्यालय से स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।”

Courtesy :https://www.livehinustan.com/

Related Posts