November 26, 2020
देश

IAS टीना- अतहर को जल्द तलाक लेने के लिए करना होगा यह काम, नहीं तो लगेंगे छह महीने का समय

2015 बैच की आईएएस टॉपर टीना डाबी और अतहर आमिर ने जयपुर के पारिवारिक न्यायालय क्रम एक में तलाक की अर्जी दायर की है। संयुक्त प्रार्थना पत्र पेश करने के बावजूद अभी इस आईएएस टॉपर जोड़ी को तलाक के लिए कम से कम छह माह का समय लग सकता है। उसके बाद ही तलाक की डिक्री जारी हो पाएगी।

दरअसल, पारिवारिक कोर्ट में तलाक की अर्जी दायर होने पर विवाह विच्छेद के लिए छह माह का कूलिंग परियड तय है। इस दौरान दोनों के बीच यदि सहमति बन जाती है तो वे याचिका को वापस ले सकते है। लेकिन, यदि सहमति ना बने और दोनों याचिका वापस ना लें तो अदालत तलाक की अर्जी मंजूर करते हुए डिक्री जारी कर सकता है।

यूं मिल सकता है जल्दी तलाक
विधि के जानकारों की मानें तो अब कूलिंग पीरियड की बाध्यता नहीं होने के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के फैसले भी आ चुके है। इसके लिए दोनोें पक्षों को कोर्ट से जल्द सुनवाई की गुहार लगानी होगी। यदि कोर्ट जल्द सुनवाई के लिए तैयार होता है तो छह माह से कम समय में भी तलाक की अर्जी मंजूर हो सकती है।

कश्मीर से आने वाले अतहर खान ने यूपीएससी की परीक्षा में दूसरी रैंक हासिल की थी तो वहीं, टीना डाबी ने परीक्षा को टॉप किया था। दोनों की शादी ने सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बंटोरी थीं। माना जाता है कि आईएएस अधिकारी टीना डाबी और अतहर खान ट्रेनिंग के दौरान एक दूसरे के करीब आए थे, जिसके कुछ समय बाद दोनों ने ही शादी कर ली थी। टीना और अतहर दोनों ही राजस्थान काडर के अधिकारी हैं और जयपुर में पोस्टेड हैं।

हाल में कब-कब सुर्खियों में आई थीं टीना डाबी?
आईएएस अधिकारी बनने के बाद टीना डाबी कई बार सुर्खियों में आ चुकी हैं। हाल ही में उन्होंने उनके नाम से फेसबुक आईडी चलाने को लेकर पुलिस में एक मामला दर्ज करवाया था। भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी डाबी कहना था कि अज्ञात लोग उनके नाम से 10 फर्जी फेसबुक आईडी चला रहे हैं। इनमें कुछ आईडी उनके नाम से मिलती हुई थीं, लेकिन प्रोफाइल फोटो और कंटेंट उनके नाम से पोस्ट किए जा रहे हैं। वहीं, कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन को लेकर भी वह सुर्खियों में आई थीं। कोरोना पर काबू पाने को लेकर भीलवाड़ा मॉडल की देश में चर्चा हुई थी। उस समय डाबी वहां की एसडीएम थीं। उन्होंने कहा था कि सबसे पहले लोगों को भरोसे लेने के बाद जिले को आइसोलेट कर दिया था। इस वजह से कोरोना के मामले कम होने लगे थे।

Courtesy :https://www.livehinustan.com/

Related Posts