खास खबर मध्य प्रदेश

सरकार बदली तो उजड़ गया रेप पीड़िता का आशियाना, मिला ये कैसा इंसाफ

भोपाल: मध्यप्रदेश की इंदौर डेवलप्मेंट अथॉरिटी द्वारा मंगलवार को 8 साल की रेप पीड़िता के परिवार से घर खाली करने को कहा गया. ये घर और एक दुकान इस परिवार को पिछली बीजेपी सरकार द्वारा एलॉट किया गया था. बता दें कि इस रेप का मामला राजनीतिक मुद्दा बन जाने पर मुख्यंमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर में इस परिवार को एक घर और दुकान दी थी. लेकिन इस सब के लिए कोई आधिकारिक ऑर्डर नहीं दिया गया था.

कोई आधिकारिक आदेश नहीं- इंदौर डेवलपमेंट अथॉरिटी के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर एनएल महाजन ने कहा कि बच्ची के बलात्कार के बाद पूर्व सरकार ने मुआवजे के तौर पर परिवार को एक घर और दुकान दी थी लेकिन इसके लिए कोई आधिकारिक आदेश नहीं था और न अभी तक आया है. ऐसे में हमें किसी को घर देने का अधिकार नहीं है.

‘सरकार बदली तो छिन गया घर’- क्रूरता के साथ सामूहिक बलात्कार का शिकार हुई बच्ची के पिता ने कहा कि जब राज्य में कांग्रेस की सरकार आई तो लोगों ने कहा कि सरकार बदल गई है अब आपको ये घर भी छोड़ना पड़ेगा क्योंकि पुरानी सरकार ने इस घर को लेकर कोई आधिकारिक आदेश नहीं दिया था. वास्तव में लोगों की बातें सच हो गईं. लगता है हमें वापस घर जाना होगा. हमें कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा कि ये क्या हुआ है.

रेप के बाद गले पर किया था वार- 26 जून 2018 को मंदसौर में परिवार की 8 साल की बच्ची का दो आदमियों ने बलात्कार किया था. इसके बाद बच्ची के गले पर छुरे से वार भी किया था. बच्ची को स्कूल के नजदीक झाड़ियों में देखकर पुलिस को खबर दी गई तो उसकी जान बचाई गई. बच्ची को आरोपियों ने उसके स्कूल से किडनैप कर लिया था जिसके बाद इस वारदात को अंजाम दिया.

 

Related Posts