April 18, 2021
उत्तर प्रदेश यूपी वाराणसी अपडेट

जेल में बंद विधायक विजय मिश्रा के जब्त मोबाइल से मांगी रंगदारी, जांच के आदेश

आगरा जेल में बंद ज्ञानपुर के बाहुबली विधायक विजय मिश्र के जब्त मोबाइल से नगर पंचायत चेयरमैन को फोन कर 50 हजार रुपए की रंगदारी मांगी गई है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी राम बदन सिंह ने जांच का आदेश दे दिए हैं।

रिश्तेदार की संपत्ति हड़पने के मामले में विधायक विजय मिश्र जेल में बंद हैं। मध्यप्रदेश से गिरफ्तारी के समय ही भदोही पुलिस ने विधायक के दोनों मोबाइल कब्जे में ले लिया था। बावजूद ज्ञानपुर नगर पंचायत के चेयरमैन हीरालाल मौर्य के मोबाइल पर शनिवार को विधायक के जब्त मोबाइल नंबर से फोन आया था। फोन करने वाले ने चेयरमैन से 50 हजार रुपए गोपीगंज नगर स्थित एक पान की दुकान पर पहुंचाने को कहा है। फोन आने के बाद चेयरमैन ने एसपी को इसकी सूचना दी। रविवार को एसपी ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। प्रभारी निरीक्षक गोपीगंज कृष्णानंद राय ने बताया कि मामला संज्ञान में है। किसने फोन किया और कहां से किया गया इसकी जांच चल रही है।

चार ग्राम प्रधानों व व्यापारी से मांगी रंगदारी

गोपीगंज थाना क्षेत्र के पूरे राम गुलाम व रामपुर कायस्थान गांव में रविवार की सुबह नक्सलियों के नाम पर धमकी भरा पत्र मिला। साथ ही चार ग्राम प्रधानों व व्यापारीसे 19 लाख की रंगदारी मांगी गई। ऐसा न करने पर जान से मारने की धमकी दी गई। एक प्रधान की गाड़ी व व्यापारी के अहाते में देसी बम जैसा वस्तु रखा मिला। वाराणसी से आए बम निरोधी दस्ते ने जांच में एक स्थान पर कागज का टुकड़ा जबकि दूसरे स्थान पर कुछ इलेक्ट्रानिक उपकरण व बारुद मिलने की बात कही गई। दोनों गांवों में सात घंटे से अधिक समय तक पुलिस डटी रही। रामपुर कायस्थान गांव के प्रधान रमेश सिंह की पत्नी को रविवार की सुबह एक लिफाफा मिला। उसे खोलने पर उसमें नक्सलियों के नाम पर धमकी भरा पत्र मिला। इसके बाद उन्होंने मामले की जानकारी यूपी-112 को दी। पुलिस ने गाड़ी के पास जाकर देखा तो उसके उपर देसी बम जैसा रखा मिला। उधर, इसी तरह का पत्र व देसी बम जैसा वस्तु पूरे रामगुलाम गांव निवासी केमिकल व्यापारी जमालुद्दीन के अहाते में भी दिखा। प्रकरण की जानकारी पर सीओ ज्ञानपुर भूषण वर्मा और प्रभारी निरीक्षक पहुंचे।

Related Posts