खास खबर नई दिल्ली राष्ट्रीय लाइफ स्टाइल शिक्षा

Opinion Poll: नौकरी का वादा पूरा करने में फेल रही मोदी सरकार!, 46 फीसदी लोग नाखुश

नई दिल्ली: चुनाव आयोग ने आगामी आम चुनाव की तारीखों की घोषणा कर दी. पूरे देश में 11 अप्रैल से लेकर 19 मई तक सात चरणों में चुनाव होंगे. 23 मई को चुनाव के नतीजे घोषित होंगे. एनडीए जहां फिर से सत्ता में वापसी के लिए जुट गई है. वहीं, विरोधी दल हर हाल में नरेंद्र मोदी को दुबारा प्रधानमंत्री नहीं बनने देने की कोशिश में लगे हैं.

इस बीच न्यूज नेशन ने एक ओपिनियन पोल किया है और इसके माध्यम से यह जानने की कोशिश की है कि देश का मूड कैसा है. क्या देश की जनता फिर से नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना चाहती है या किसी अन्य को मौका देना चाहती है? नतीजे ये बता रहे हैं कि देश की जनता एनडीए सरकार में नौकरी, कालाधन, किसानों की आय और रोजगार के मुद्देे पर असंतुष्ट है. वहीं, महंगाई, पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई, देश की आर्थिक वृद्धि और स्वच्छ भारत अभियान के काम से संतुष्ट हैं.

पोल के अनुसार, जनता से यह पूछा गया, “क्या मोदी सरकार काला धन वापस ले आयी?” इसके जवाब में, “30 प्रतिशत लोगों ने ‘हां’, 53 प्रतिशत लोगों ने ‘न’ और 17 प्रतिशत लोगों ने ‘कुछ नहीं कह सकते’ कहा.” दूसरा सवाल पूछा गया, ” क्या मोदी सरकार में आर्थिक वृद्धि से आप संतुष्ट हैं?” इसके जवाब में, “50 फीसद लोगों ने हां, 35 प्रतिशत ने नहीं और 15 प्रतिशत ने कुछ नहीं कह सकते कहा.” तीसरा सवाल देश के किसानों की आय को लेकर पूछा गया. इसके जवाब में 41 प्रतिशत लोगों ने कहा कि मोदी सरकार में किसानों की आय को लेकर वे संतुष्ट हैं. वहीं, 45 प्रतिशत लोग असंतुष्ट नजर आए और 14 प्रतिशत लोगों ने कुछ नहीं कहा.

मोदी सरकार में पाकिस्तान के खिलाफ की गई कार्रवाई पर 58 प्रतिशत लोग संतुष्ट नजर आए. वहीं, 31 प्रतिशत लोग असंतुष्ट हैं. 11 प्रतिशत लोगों ने कुछ नहीं कहा. ‘स्वच्छ भारत अभियान’ को लेकर एनडीए की सरकार में हुए काम पर 60 प्रतिशत लोग संतुष्ट दिखे, 30 प्रतिशत असंतुष्ट और 10 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे कुछ नहीं कह सकते है. भष्टाचार के मुद्दे पर देश की जनता ने मोदी सरकार की सराहना की है. 51 प्रतिशत जनता मोदी सरकार में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर संतुष्ट हैं. 40 प्रतिशत लोग असंतुष्ट और 9 प्रतिशत लोग कुछ नहीं कहने वालों में हैं.

वर्ष 2014 के चुनाव में नरेंद्र मोदी ने देश की जनता को रोजगार देने का वादा किया था. लेकिन, पोल के नतीजे ये बता रहे हैं कि सरकार इस मुद्दे पर फेल हो गई. जनता से यह पूछा गया, “रोजगार के मुद्दे पर आप एनडीए सरकार से संतुष्ट हैं?” इसके जवाब में 45 प्रतिशत ने ‘हां’ कहा. वहीं, 46 प्रतिशत लोगों ने ‘न’ में जवाब दिया. वहीं, 9 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे कुछ नहीं कह सकते हैं.

महंगाई के मुद्दे पर जनता केंद्र सरकार के साथ है. पूछा गया, “क्या एनडीए सरकार में महंगाई पर आप संतुष्ट हैं?” इसके जवाब में 46 प्रतिशत लोगों ने ‘हां’, 44 प्रतिशत ने ‘न’ और 10 प्रतिशत ने ‘कह नहीं सकते’ जवाब दिया. हालांकि, इन सब के बीच नरेंद्र मोदी के लिए एक सकारात्मक बात यह है कि देश की 47 प्रतिशत जनता उन्हें फिर से प्रधानमंत्री बनते देखना चाहती है. वहीं, 30 प्रतिशत जनता ही राहुल गांधी को पीएम बनाना चाहते हैं.

 

Related Posts