August 8, 2020
उत्तर प्रदेश व्यापार

पीएम किसान: 2000 रुपये की पिछली किस्त नहीं मिली तो यह भी नहीं मिलेगी अगर…

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की छठी और इस साल की दूसरी किस्त किसानों के बैंक खातों में जल्द ही आने वाली है। अगर आवेदन करने के बावजूद आपके खाते में पिछली किस्त नहीं पहुंची है तो समझ जाएं आप उन 70 लाख किसानों में से हैं, जिनके डाक्यूमेंट में मामूली गड़बड़ी है। जैसे किसी का आवेदन में लिखा गया नाम आधार से मिसमैच है तो किसी का बैंक अकाउंट से। किसी ने आधार नंबर सही नहीं डाला है तो किसी ने बैंक का आईएफएससी कोड।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की छठी और इस साल की दूसरी किस्त किसानों के बैंक खातों में जल्द ही आने वाली है। अगर आवेदन करने के बावजूद आपके खाते में पिछली किस्त नहीं पहुंची है तो समझ जाएं आप उन 70 लाख किसानों में से हैं, जिनके डाक्यूमेंट में मामूली गड़बड़ी है। जैसे किसी का आवेदन में लिखा गया नाम आधार से मिसमैच है तो किसी का बैंक अकाउंट से। किसी ने आधार नंबर सही नहीं डाला है तो किसी ने बैंक का आईएफएससी कोड।

70 लाख किसानों के खातों में गड़बड़ी

इन मामूली गलतियों की वजह से करीब 70 लाख किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि के 6000 रुपये में से 2000 की पहली किस्त नहीं पहुंच पाई है। अगर आाप भी इन 70 लाख किसानों में से हैं तो इस गलती को अभी सुधार लें। इसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है बल्कि आप घर बैठे अपने मोबाइल से ही ठीक कर सकते हैं, अगर आपने पीएम किसान ऐप डाउन लोड किया है तो गलतियां सुधारना और भी आसान है। आइए जानें कैसे करें इन गलतियों को ठीक…

pm kisan

 

  • PM-Kisan Scheme की ऑफिशियल वेबसाइट (https://pmkisan.gov.in/) पर जाएं। इसके फार्मर कॉर्नर के अंदर जाकर Edit Aadhaar Details ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • आप यहां पर अपना आधार नंबर दर्ज करें। इसके बाद एक कैप्चा कोड डालकर सबमिट करें।
  • अगर आपका केवल नाम गलत होता है यानी कि अप्लीकेशन और आधार में जो आपका नाम है दोनों अलग-अलग है तो आप इसे ऑनलाइन ठीक कर सकते हैं।
  • अगर कोई और गलती है तो इसे आप अपने लेखपाल और कृषि विभाग कार्यालय में संपर्क करें

इसके बाद भी न मिले पैसा तो क्या करें

अगर आवेदन करने के बाद भी पैसा न मिले तो केंद्रीय कृषि मंत्रालय की ओर से जारी हेल्पलाइन (PM-Kisan Helpline 155261 या 1800115526 (Toll Free) पर संपर्क करें। वहां से भी बात न बने तो मंत्रालय के दूसरे नंबर (011-23381092) पर भी बात कर सकते हैं।

Courtesy :https://www.livehinustan.com/

Related Posts