July 4, 2020
मनोरंजन

रिया सेन को 16 साल की उम्र में स्कूल में दिया गया था ये टैग, कहा- बहुत गंदा महसूस होता था

बॉलीवुड एक्ट्रेस रिया सेन का कहना है कि हिंदी फिल्म और म्यूजिक में उन्हें इस तरह से सेक्शुअलाइज किया गया कि उन्होंने एक समय पर इन सभी से दूरी बना ली। रिया को यह सभी चीजें काफी असहज महसूस कराती थीं। आपको बता दें कि रिया सेन आर्टिस्ट परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनकी दादी सुचित्रा सेन, मां मुनमुन सेन और बहन रायमा सेन हैं। रिया सेन को 16 साल की उम्र में फालगुनी पाठक के गाने ‘याद पिया की आने लगी’ में ब्रेक मिला था। यह बात है साल 1998 की। इसके बाद रिया सेन को साल 1999 में फिल्म ‘ताज महल’ मिली। यह एक तमिल रोमांटिक ड्रामा फिल्म थी जिससे रिया ने बड़े पर्दे पर अपनी जगह बनाई थी।

इसके बाद रिया सेन ने कई बॉलीवुड फिल्में कीं। इसमें अजय देवगन की फिल्म ‘कयामत’, म्यूजिकल ड्रामा फिल्म ‘झंकार बीट्स’ और हिट कॉमेडी फिल्म ‘स्टाइल’ शामिल रहीं। रिया बताती हैं कि शुरुआत में वह काफी एक्साइटेड थीं और जान गई थीं कि उनकी चॉइस ऑफ फिल्म्स बॉक्स ऑफिस पर हिट हो रही हैं। रिया दर्शकों के बीच अपनी खास पहचान बना रही हैं। लेकिन बाद में जब कमर्शियल तौर पर रिया को एक ‘बोल्ड’ एक्ट्रेस की नजर से देखा जाने लगा तो उन्हें यह ठीक नहीं लगा।

रिया कहती हैं कि मुझे यह अहसास तब हुआ जब मैंने कई हिट फिल्में देने के बाद कुछ ऐसी फिल्में कीं जो बॉक्स ऑफिस पर चली ही नहीं, क्योंकि मैं उनमें निभाए गए रोल में कंफर्टेबल महसूस नहीं कर रही थी। शायद इसलिए बाद में लोगों के बीच मैं एक बेकार एक्ट्रेस की नजर से देखी जाने लगी और मैं इसके लिए उन्हें बिलकुल भी ब्लेम नहीं करती हूं। उस समय बॉलीवुड में फिल्में करने का मतलब होता था, जो कपड़े आप पहनते हैं और मेकअप कराते हैं उनमें बोल्ड महसूस करना। और मैं इसमें फिट नहीं बैठ पा रही थी।

फिल्म ‘बेबी’ के ‘स्पाई’, करन आनंद ने नेपोटिज्म पर कहा- स्टार किड्स के लिए डायरेक्टर्स से मिलना आसान होता है, लेकिन…

सुशांत सिंह राजपूत के निधन से टूट गए हैं एक्टर के पिता, यह फोटो देखकर आप भी हो जाएंगे इमोशनल

रिया आगे कहती हैं कि बोल्ड एक्ट्रेस के टैग्स जब मुझे मिलने लगे तो मुझे बहुत गंदा महसूस होता था। मुझे याद है जब मैं स्कूल में थी तब कुछ लड़के मुझे गलत नाम से भी बुलाते थे। हर समय प्रेशर रहता था अच्छा दिखने का। जब भी मैं बाहर जाती थी तो लोग मुझे देखकर कहने लगे थे कि अरे ये जो स्क्रीन पर दिखती है वही रियल में दिखती है। उस समय मेरे अंदर से एक हीरोइन बनने का जुनून खत्म होता गया और मैंने बॉलीवुड इंडस्ट्री से दूरी बना ली।

Courtesy :https://www.livehindustan.com/

Related Posts