January 18, 2021
उत्तर प्रदेश यूपी वाराणसी अपडेट

स्वनिधि योजना: पीएम मोदी ने की फल, लैय्या-चना और मोमोज बनाने वालों से बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पीएम स्वनिधि योजना से लाभ लेने वालों के साथ संवाद किया। इस दौरान वीडियो काफ्रेंसिंग के जरिये पीएम ने आगरा की फल विक्रेता प्रीति, बनारस के मोमोज-कॉफी दुकानदार अरविंद मौर्य और लखनऊ के लैय्या चना मटर बेचने वाले विजय बहादुर से बात की। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ भी अपने सरकारी आवास में इस संवाद के दौरान मौजूद थे। इस वर्चुअल संवाद में प्रदेश के 75 जिलों के 651 नगरीय निकायों के पटरी दुकानदार शामिल थे।

स्वनिधि योजना ने प्रीति का बढ़ाया आत्मविश्वास
पीएम मोदी ने संवाद की शुरुआत आगरा की फल बेचने वाली प्रीति से की। ताजगंज निवासी प्रीति फल और नारियल पानी विक्रेता हैं। वह ताजगंज में अपनी रेहड़ी लगाती हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रीति से उनके व्यवसाय के बारे में पूछा। इस पर प्रीति ने कहा कि वह पहले सब्जी बेचती थीं, लेकिन लॉकडाउन में काम बंद हो गया था। इसके बाद पीएम स्वनिधि योजना के तहत 10 हजार रुपये का लाभ मिला और दोबारा फल बेचने का काम शुरू कर दिया। संवाद के दौरान प्रधानमंत्री ने प्रीति को डिजिटल पेमेंट के फायदे बताए। कहा कि डिजिटल पेमेंट करने से कैश बैक मिलता है, इसका फायदा जरूर लीजिए। इससे योजना पर मिलने वाले लोन के ब्याज को भी कम कर सकते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आपके फल खाकर लोगों की सेहत अच्छी होती है। शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आपका व्यापार खूब बढ़े।


प्रधानमंत्री मोदी ने प्रीति के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि बहुत कम पढ़ी-लिखी बहन प्रीति कितने आत्मविश्वास के साथ आधुनिक तकनीकी को सीख रही हैं। अपने व्यापार को आगे बढ़ाने के प्रयास कर रही हैं। प्रधानमंत्री ने फल विक्रेता प्रीति से शिक्षा और उनके परिवार को लेकर भी सवाल किए। इस पर प्रीति ने कहा कि वह आठवीं कक्षा तक पढ़ी हैं। उनकी तीन बेटियां हैं और एक बेटा है। हादसे में पति के पैर में चोट लग गई है। इससे वह काम नहीं कर सकते हैं। प्रीति ने प्रधानमंत्री से पति के इलाज के लिए मदद मांगी। इस पर उन्होंने कहा कि अधिकारी आपकी मदद करेंगे।

बनारस के मोमोज वाले का आइडिया पसंद आया
वाराणसी के कबीरनगर में मोमोज और काफी की दुकान चलाने वाले अरविंद मौर्य से पीएम मोदी ने सबसे पहले मोमोज बनाने का तरीका पूछा। अरविंद ने बताया कि अलसुबह उठने के बाद सबसे पहले सब्जियां खरीदने जाते हैं। स्वनिधि योजना उनके बिजनेस में कैसे मदद कर रही है इस पर भी अरविंद ने विस्तार से बताया। अरविंद ने बताया कि केवल आधार कार्ड जमा करने पर अपने आप लोन मिल गया। अरविंद ने बताया कि स्वनिधि योजना से मिले लोन के कारण ही उनका बिजनेस अब बढ़ गया है। स्विगी से भी करार हो गया है। इससे आनलाइन आर्डर मिल रहे हैं।

अंत में अरविंद ने ऐसी बात कह दी जिसने पीएम मोदी को बेहद आकर्षित कर दिया। अरविंद ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना नियमों का लोगों से पालन कराने के लिए उन्होंने एक स्कीम निकाली हुई है। जो भी व्यक्ति सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए और मास्क लगाकर उनके यहां  मोमोज लेने आता है उसे एक मोमोज अपनी तरफ से मुफ्त देते हैं। अरविंद की यह बात सुन पीएम ने उनकी खूब तारीफ की।

लखनऊ के खुशीराम की खुशी का ठिकाना नहीं 
लखनऊ के चौक चौराहे से कुछ कदम आगे ठेले पर भेलपुरी बेचने वाले विजय बहादुर खुशीराम के नाम से मशहूर हैं। आज पीएम मोदी से बातचीत से उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। उन्होंने पीएम मोदी को बताया कि 10 हजार का लोन लेकर अपने कारोबार में लगाया है। पहले बार बार बाजार जाना होता था। अब पैसा मिलने से एक हफ्ते में एक बार ही बाजार जाना होता है। पीएम ने पूछा कि नई पीढ़ी के बच्चे लाई चना खाते हैं क्या? इस पर विजय बहादुर ने बताया कि चना कम खाते हैं लेकिन लाई के साथ बनाकर देने पर चाव से खाते हैं।

खुशीराम ने यह भी बताया कि उनके जानने वाले सैकड़ों लोगों को यह लोन मिला है। खुशीराम ने लॉकडाउन के समय मिली मदद के बारे में भी बताया। पीएम ने खुशीराम से बातचीत के बाद कहा कि पैसा आता है तो कैसे कोई गरीब अपने आप को बदलता है, आपने यह आज सभी को बताया है। पीएम ने खुशीराम को बधाइयां और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हम चाहते हैं कि आपकी दुकान एक ब्रांड के रूप में मशहूर हो जाए।

नगरीय निकायों में आनलाइन हुआ प्रसारण
इस कार्यक्रम देखने के लिए नगरीय निकायों में व्यवस्था की गई है। इस योजना के तहत प्रदेश में सात लाख से अधिक पंजीकरण आवेदन पोर्टल पर प्राप्त हुए हैं। इसमें 6.40 लाख से अधिक ऑनलाइन मिले हैं। प्रदेश में 3.62 लाख से अधिक आवेदन पत्र स्वीकृत हो चुके हैं, जबकि अब तक 2.59 लाख को कर्ज भी वितरित हो चुका है। केंद्र सरकार ने कोविड-19 महामारी से प्रभावित पटरी दुकानदारों विक्रेताओं को फिर आजीविका से जोडऩे के लिए पीएम स्वनिधि योजना एक जून को शुरू की थी।

उत्तर प्रदेश इस योजना में ऑनलाइन पंजीकरण, कर्ज स्वीकृति एवं कर्ज वितरण में देश में प्रथम स्थान पर है। देश के टॉप 10 नगर निगमों में उत्तर प्रदेश के सात नगर निगम वाराणसी, लखनऊ, आगरा, प्रयागराज, गोरखपुर, कानपुर एवं गाजियाबाद शामिल थे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन व नगर विकास राज्यमंत्री महेश चन्द्र गुप्ता के अलावा मुख्य सचिव तथा अन्य अधिकारी थे।
Courtesy :https://www.livehinustan.com/

Related Posts