June 2, 2020
कोरोना खास खबर व्यापार

चेतावनी देश के आर्थिक हालात चिंताजनक

रिजर्व बैंक ने कोरोना महामारी के चलते उपजे आर्थिक हालात पर चिंता जताते हुए कहा कि देश में इस वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था की रफ्तार रफ्तार शून्य के नीचे ही रहेगी हालांकि उन्होंने मौजूदा वित्त वर्ष 2020 – 21 की दूसरी छमाही यानी सितंबर के बाद से हालात सुधरने की उम्मीद जताई है।

देश में आर्थिक हालात का जिक्र करते हुए शक्तिकांत दास ने कहा कि भारत में मांग घट रही है। बिजली पेट्रोलियम उत्पाद की खपत के साथ निजी खपत में भी गिरावट हुई है उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण निजी उपभोग को सबसे ज्यादा झटका लगा है साथ ही निवेश की मांग रुक गई है रिजर्व बैंक ने अनुमान जताया है कि आने वाले दिनों में महंगाई की स्थिति में अनिश्चितता बना रहना रहेगी।

अनुमान के मुताबिक अक्टूबर-नवंबर महीनों में नरमी देखने को मिलेगी रिजर्व बैंक का आकलन है कि दालों की कीमतों में भारी बढ़ोतरी चिंताजनक है शक्तिकांत दास ने के मुताबिक वित्त वर्ष की तीसरी और चौथी तिमाही में ही महंगाई दर संतोषजनक स्तर 4 फ़ीसदी के नीचे देखने को मिलेगी लोग डाउन के अवसर पर उन्होंने बताया कि देश की शीर्ष 6 राज्यों के ज्यादातर हिस्से रेड या फिर ऑरेंज जोन में है।

 

Related Posts